God come in any form

अगर आप किसी खास रूप या अनुभव से लगा बना लेते हैं तो असली अनुभव से वंचित रह जाते हैं।

एक योगी थी मंदिर के प्रांगण में बैठे रहते थे। लोगों ने उन्हें पूछना शुरु कर दिया। योगी कभी पागलों की तरह हरकतें करते तो कभी शांत हो जाते। एक व्यक्ति जो रोजाना मंदिर आता था।  उसने देखा कि अगर कोई योगी को खाने के लिए कुछ ना दे तो वह कई दिनों तक खाना नहीं खाते । वह रोजाना उनके लिए खाना ले कर आता और उनके खाने का इंतजार करता।  कुछ सालों तक यही क्रम चलता रहा। एक दिन योगी को उस आदमी पर स्नेह आया और उन्होंने प्यार से कहा कि कल से तुम्हें यहां आने की कोई जरूरत नहीं है। मैं खुद तुम्हारे घर आ जाऊंगा। अगले दिन उस व्यक्ति ने खाना तैयार किया और योगी का इंतजार करने लगे एक कुत्ता आया और खाने के पास जाने की कोशिश करने लगा। उस व्यक्ति ने कुत्ते को कई बार भगाया और डंडे से उसकी पिटाई कर दी।  कुत्ता वहां से चला गया शाम तक इंतजार के बाद भी होगी नहीं आए। जब उस व्यक्ति ने मंदिर जाकर देखा तो योगी वही बैठे थे। उसने पूछा महाराज आपने कहा था कि घर आएंगे ।योगी ने जवाब दिया मैं आया था, तुमने मुझे गाली दी और मुझे मारा भी। तब उस आदमी को कुत्ता याद आया उसने योगी से क्षमा मांगी।

जरूरी नहीं है कि गुरु या प्रभु हमेशा सुंदर हंस के रूप में आए मैं किसी भी रुप में आ सकते हैं अगर आप किसी खास रूप से लगा बना लेते हैं तो असली अनुभव से वंचित रह जाते हैं।

About Aman kumar

मेरा नाम अमन कुमार है और मैं ब्लॉगिंग करता हूं स्टोरी लिखता हूं और न्यूज पोस्ट करता हूं यहां पर आपके लिए सभी तरह की न्यूज़ ले करके आता हूं मैं और आपको अच्छे-अच्छे गैजेट के बारे में नॉलेज दूंगा और इस टाइम में एप्लीकेशन पर और वेबसाइट पर काम कर रहा हूं

View all posts by Aman kumar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *