एआईआईबी की तीसरी बैठक में बोले मोदी

*👨‍💼एआईआईबी की तीसरी बैठक में बोले मोदी, आने वाला वक्त भारत का है!👨‍💻*

मुंबई में एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) की तीसरी सालाना बैठक की शुरूआत हो गई है. जिसका शुभारंभ करने के लिए पीएम मोदी वहां पहुंचे थे. यहां मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए न्यू इंडिया के सपने की बात कही.

उन्होंने कहा कि मैं केवल भारत ही नहीं बल्कि समूचे एशिया का विकास चाहता हूं. मैं चाहता हूं कि भारत के साथ बाकी देश भी उन्नति करें. उन्होंने कहा कि हमने सपना देखा है कि 2022 तक न्यू इंडिया बनाएंगे. जहां गरीबों के पास घर होगा, पानी, बिजली और स्वास्थ्य सुविधाएं होंगी. देश में रोजगार होगा और बच्चे अच्छी शिक्षा हासिल कर सकेंगे.

इस सपने को पूरा करने में भारत को आर्थिक रूप से संबल होना जरूरी है. उन्होंने कहा कि हम अपने सपने को पूरा करने की दिशा में तेजी से आगे जा रहे हैं. बैंक सहयोग के बिना यह सपना पूरा होना मुश्किल है इसलिए बेहतर है कि बैंक केवल सरकार का सहयोग न करें बल्कि आम आदमी का सहयोग भी करें ताकि देश को शक्ति मिलती रहे

पीएम मोदी ने कहा कि मैं महाराष्ट जनता पार्टी का आभारी हूं जो उन्होंने मुझे यहां आने का मौका मिला. कुछ लोगों को जरूर लगता होगा कि इस देश के लोकतंत्र प्रेमी जागरूक संगठन, नागरिक, राजनीतिक दल हर साल आज इस काले दिन का स्मरण करते हैं. कोई यह समझने की गलती न करे कि हमे इस काले कारनामे के माध्यम से भारतके लोकतंत्र के इतिहास के स्वर्णिम पृष्ठों पर जो काला धब्बा लगा है

उसके माध्यम से इस पाप को करने वाली कांग्रेस पार्टी और उस समय की सरकार की उनकी आलोचना करने मात्र के लिए हम काला दिन नहीं मनाते हैं.

हम देश की वर्तमान और आने वाली पीढी को जागरूक करना चाहते हैं. हम स्वयं को भी प्रतिपल संविधान के प्रति समपर्ण, लोकतंत्र के प्रति प्रतिबदृधता, हर पल अपने आप को सज्ज रखने के लिए भी इसका स्मरण करते हैं. जिसने पराधीनता देखी नहीं है, जिसने पराधाीनता के संघर्ष को देखा है, न इतिहास से खोजा है उनके सामने यदि आजादी की कितनी ही बातें करें वो समझ तो सकते हैं पर अनुभव नहीं कर सकते.

इसलिए हमारे यहां कहा गया है कि लोकतंत्र के प्रति हमारी आस्था को बार बार याद करते रहना चाहिए. संविधान के प्रति अपने कर्तव्यों को निभाना चाहिए. यह संस्कार है.

इसलिए आज की पीढी में युवाओं से पूछे कि आपातकाल कैसा था तो उसे पता नहीं होगा. उसके भीतर से वो आग नहीं पैदा होगी. प्यासे को पता चलता है कि पानी नहीं है तो वो पल कैसा होगा है.

About Aman kumar

मेरा नाम अमन कुमार है और मैं ब्लॉगिंग करता हूं स्टोरी लिखता हूं और न्यूज पोस्ट करता हूं यहां पर आपके लिए सभी तरह की न्यूज़ ले करके आता हूं मैं और आपको अच्छे-अच्छे गैजेट के बारे में नॉलेज दूंगा और इस टाइम में एप्लीकेशन पर और वेबसाइट पर काम कर रहा हूं

View all posts by Aman kumar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *